SSC MTS Kya Hai? और 2021 में आवेदन जमा करने की तिथि एवं NOTICE

आज हम इस लेख के माध्यम से जानेंगे SSC MTS Kya Hai? SSC MTS का Syllabus और SSC MTS का Exam Pattern क्या है ? SSC MTS Constable केंद्र सरकार की प्रतिष्ठित नौकरियों में से एक है। जिसका एग्जाम SSC के द्वारा हर साल पूरे देश में आयोजित किया जाता है। आइए जानते है SSC MTS के बारे में।

SSC MTS Kya Hai?

SSC MTS एग्जाम एसएससी के द्वारा आयोजित महत्वपूर्ण एक्साम्स में से एक है जो प्रत्येक वर्ष भारत सरकार के विभिन्न विभागों / संगठनों में Group C के पदों पर भर्ती के लिए आयोजित किया जाता है।

SSC MTS के बारे में और जानकारी प्राप्त करने से पहले हमे SSC के बारे में जानकारी प्राप्त करना बहुत ही आवश्यक है , ताकि हमे हर तरह की जानकारी प्राप्त रहे। 

SSC का फुल फॉर्म :- Staff Selection Commission और हिंदी में:- कर्मचारी चयन आयोग होता है।

हम आपको आसान भाषा में बता देते हैं कि इसका मतलब यह होता है कि यह एक ऐसी संस्थान है, जो कि भारत में विभिन्न प्रकार के डिपार्टमेंट के लिए कर्मचारियों का चयन करता है। अथवा कर्मचारियों का चुनाव करता है।

यह एक ऐसी संस्थान है जो एक एग्जाम करवाता है और उस एग्जाम को क्लियर करने के बाद यह अलग-अलग डिपार्टमेंट के लिए कर्मचारियों का चुनाव करता है। किन्तु हमे एक बात का ध्यान रखना बहुत ही जरूरी है। यह एग्जाम केंद्र सरकार के द्वारा करवाया जाता है। यह एक केंद्र सरकार की संस्था है, और इसी को ही SSC कहा जाता है, SSC जो भी एग्जाम करवाता है।

उसके अंतर्गत काफी सारी जॉब्स आती है, और यह एक बहुत ही बड़ा एग्जाम होता है। जब भी केंद्र सरकार की कोई नई जॉब्स निकलती है। तो उसके लिए SSC संस्था एग्जाम करवाती है। यह संस्था हमारे देश में हर साल एग्जाम करवाती है।

वैसे अगर बात की जाए SSC की तो परीक्षा से लेकर नियुक्ति तक सभी काम SSC के अंतर्गत ही होता है। SSC एक बहुत ही बड़ी संस्था है, जो कर्मचारियों की नियुक्ति करती है। SSC का मुख्यालय नई दिल्ली में है। इसके पूरे देश में 7 जगह पर इसका कार्यालय है। 

जिसमें इलाहाबाद, मुंबई, कोलकाता, गुवाहाटी, चेन्नई, बेंगलुरु, केंद्र सरकार है। जिसके लिए आपको सबसे पहले SSC एग्जाम को क्लियर करना होता है उसके बाद ही आपको बी और सी ग्रेड की जॉब मिल सकती है।

अगर आप एसएससी के बारे में और अधिक जानकारी पाना चाहते है तो हमारे SSC क्या है ? SSC की तैयारी कैसे करे ? इस आर्टिकल को पढ़ सकते है। आइये हम SSC MTS के बारे में जानकारी हासिल करते है, जो कि निम्न लिखित अनुसार है :

SSC MTS का फुल फॉर्म :

SSC MTS का फुल फॉर्म :-Staff Selection Commission (SSC) Multi Tasking Staff (MTS) है।  

SSC MTS के लिए क्वालफिकेशन :

एसएससी Multi Tasking Staff का एग्जाम देने के लिए हमे के बातों  का ध्यान रखना पड़ता है क्योंकि हम सभी जरूरी बातों को ध्यान में रखकर ही हम आवेदन पत्र भर  सकते है।  किन्तु अगर हम इन खास बातों  को ध्यान में नहीं रखते है तो हम एग्जाम नहीं दे सकते है। ये आवेदन कुछ इस प्रकार से है :-

  • आवेदक का एक  भारतीय नागरिक होना आवश्यक है। 
  • उम्र 18 साल से लेकर 25 साल तक होनी चाहिए। किन्तु उम्र सीमा केटेगरी के हिसाब से उम्र की सीमा को कुछ हद तक बढ़ाया और घटाया जा सकता है। अगर आप OBC केटेगरी से सम्बन्ध रखते है तो आपको ऊपरी उम्र सीमा में 3 वर्ष और SC/ST छात्रों को ऊपरी उम्र सीमा में 5 वर्ष की  छूट मिलती है।  शारीरिक रूप से विकलांग (PH) छात्रों के लिए ऊपरी सीमा  छूट 10 वर्षो तक की होती है। 
  • एसएससी GD Constable के लिए आपको किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड या संस्था से दसवीं पास होना बहुत आवश्यक है। 

SSC MTS एग्जाम की एटेम्पट सीमा:

SSC  Multi Tasking Staff एग्जाम में शामिल होने के प्रयासों की कोई सीमा नहीं है।  आज जितनी बार चाहे एग्जाम में बैठ सकते है। बस शर्त सिर्फ इतनी है की आप SSC  Multi Tasking Staff के एग्जाम के सभी शर्तो जैसे की Age लिमिट,एग्जाम क्वालिफिकेशन इत्यादि इन सभी बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। अन्यथा आप जब तक चाहे एग्जाम दे सकते है।

SSC MTS का एग्जाम किनके लिए आवयश्क है :

SSC  Multi Tasking Staff के नाम से ही आपको अंदाजा हो गया होगा की यह एग्जाम किनके लिए जरूरी है।  यह एग्जाम उन सभी स्टूडेंट्स के लिए जरूरी है जो पढ़ाई कर रहे है या कर चुके है और जो की सरकारी नौकरी पाना चाहते है।  सरल शब्दों में कहे तो यह एग्जाम उन सभी के जरूरी है जिन्होंने  कम दसवीं पास की हो। यह एग्जाम वह स्टूडेंट्स भी दे सकते है जो बारहवीं या ग्रेजुएशन कर रहे है। 

read also: SSC CPO kya hai? SSC CPO का Exam Pattern और SSC CPO Exam Syllabus

SSC MTS के अंतर्गत आने वाले विभाग :

एसएससी MTS के अंतर्गत आने वाले विभाग निम्न लिखित अनुसार है :-

  • Armed Forces HQs
  • Computer and Auditor General of India (CAG)
  • Central Board of Direct Taxes (CBDT) Income Tax Department
  • Central Board of Indirect Taxes and Customs
  • Central Secretariat
  • Central Vigilance Commission 
  • Directorate of Forensic Science
  • Election Commission of India
  • Intelligence Bureau
  • Indian Foregin Service
  • Ministry of Home Affairs 
  • Ministry of Parliamentary Affairs 
  • National Investigation Agency
  • President’s Secretariat
  • Railway Board Secretariat

आपकी पोस्टिंग इन डिपार्टमेंस में आधार पर होती है,  किन्तु  यह इस बात पर भी आधारित है कि आप MTS एग्जाम में कितने अंक प्राप्त करते है। 

SSC MTS की Post और Salary : 

एसएससी MTS की परीक्षा का आयोजन निम्नलिखित पदों पर उम्मीदवारों की भर्ती के लिए किया जाता है :

  • चपरासी (Peon)
  • दफ़्तरी (Daftary)
  • जमादार (Jamadar)
  • जूनियर गेस्टेटनर ऑपरेटर ( Junior Gestetner Operator)
  • फराश (Farash)
  • चौंकीदार (Watchman)
  • माली (Gardener)
  • सफाईवाला (Cleaner)

Salary :

एसएससी MTS एग्जाम द्वारा भर्ती किये हुए कर्मचारियों की न्यूनतम सैलरी 18000/- से 20000 प्रति माह तक हो सकती है। सैलरी ग्रैड-पे 1800/- प्रति माह तक हो सकती है। 

 SSC MTS को इस पे बैंड के अलावा अन्य भत्तों का लाभ भी मिलता है। बेसिक सैलरी के अलावा SSC MTS को केंद्र सरकार के नियमों के अनुसार कई सुख सुविधाएँ मिलती है :

  • मंहगाई भत्ता (DA -Dearness Allowance)
  • चिकित्सकीय भत्ता (MA -Medical Allowance)
  • हाउस रेंट अलाउंस (HRA)
  • परिवहन भत्ता (TA -Travel Allowance)
  • अन्य महत्वपूर्ण भत्ते। 

SSC MTS की Posting

किसी कर्मचारी को सैलरी कितनी मिलेगी , ये इस बात पर निर्भर करता है कि उसकी पोस्टिंग किस शहर में है। शहरों को तीन भागों में बांटा गया है – A ,B ,C  क्लास।  A क्लास में बड़े महानगर आते है। 

B क्लास में माध्यम और C क्लास में छोटे शहर आते है। क्लास के आधार पर सैलरी पे मिलता है। केंद्र सरकार के अनुसार , A क्लास शहरों में शुरुआत में 24 फीसदी HRA  मिलता है। B क्लास वाले शहरों को 16 फीसदी और C क्लास वाले शहरों को 8 फीसदी HRA (House Rent Allowance) मिलता है।

जब आपकी DA (Dearness Allowance) बढ़कर 25 फीसदी होगी तब आपकी HRA भी A ,B ,C के लिए क्रमश: 27 फीसदी, 18 फीसदी और 9 फीसदी हो जाएगा। फिर जब आपका DA 50 फीसदी होगा , तो आपका HRA क्रमश: 30, 20, 10 फीसदी बढ़ जायेगा।

SSC MTS एग्जाम के लिए Apply कैसे करे ?

SSC MTS का आवेदन पत्र केवल ऑनलाइन मोड भरा जाता है। जो उम्मीदवार SSC MTS का एग्जाम देने इच्छुक है , उन्हें SSC MTS की आधिकारित वेबसाइट Https://Ssc.Nic.In/ पर खुद को पंजीकृत करना होगा। 

आवेदन पत्र पर पूछी गई सभी जानकारी आपको सही सही भरनी होगी ,नहीं तो आपका आवेदन पत्र रद्द कर दिया जाएगा। इसी लिए आपको आवेदन पत्र में पूछी जाने वाली सभी प्रश्नो का उत्तर बिना किसी गलती के भरना होगा। जब आपके आवेदन पत्र भरने की प्रक्रिया पूरी हो जाए तब आपको आपके आवेदन पत्र का प्रिंटआउट निकाल लेना चाहिए ताकि आपको Future में मुसीबतों का सामना न करना पड़े।  

2021 में आवेदन जमा करने की तिथि एवं NOTICE

ऑनलाइन आवेदन जमा करने की तिथि: 05.02.2021 से  21.03.2021

ऑनलाइन आवेदन प्राप्त करने की अंतिम तिथि और समय: 21.03.2001 (23:30)

ऑनलाइन भुगतान करने की अंतिम तिथि: 23.03.2021 (23:30)

ऑफ़लाइन चालान की पीढ़ी के लिए अंतिम तिथि: 25.03.2021 (23:30)

चालान के माध्यम से भुगतान करने की अंतिम तिथि (बैंक के काम के घंटों के दौरान): 29.03.2021

कंप्यूटर आधारित परीक्षा की अनुसूची (Tier-1): 01.07.2021 to 20.07.2021

टियर -2 परीक्षा की तिथि (Descriptive Paper): 21.11.2021

कर्मचारी चयन आयोग  (7 वें वेतन आयोग के वेतन मैट्रिक्स के अनुसार वेतन स्तर -1 में) की भर्ती के लिए एक प्रतियोगी परीक्षा आयोजित करता है , एक सामान्य केंद्रीय सेवा समूह C ‘गैर-राजपत्रित, विभिन्न मंत्रालयों में गैर-मंत्री पद,  विभिन्न राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों में भारत सरकार के विभाग / कार्यालय  समय  समय पर रिक्तियों के बारे में विवरण प्रदान किया जाएगा। 

SSC MTS की Vacancies:-

आपको इन vacancies के बारे में विस्तार रूप से वर्णन  (https: //ssc.nic.in) अधिकृत वेबसाइट पर प्राप्त हो जाएगी। जिसके बारे में आपको समय समय पर सूचना मिल जाएगी। 

SSC MTS में Reservation:-

अनुसूचित जाति (एससी), अनुसूचित जनजाति (एसटी), अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी), आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस), पूर्व सैनिकों (ईएसएम) और विकलांग व्यक्तियों, (पीडब्ल्यूडी) आदि को वर्तमान सरकार  के आदेश अनुसार आरक्षण प्रदान किया जाता है।   

आयोग विभिन्न पदों के लिए संबंधित उपयोगकर्ता विभागों द्वारा सूचित रिक्तियों के अनुसार उम्मीदवारों का चयन करता है।  किसी भी उपयोगकर्ता विभाग की रिक्तियों की संख्या तय करने में आयोग की कोई भूमिका नहीं होती है। 

आरक्षण नीति का क्रियान्वयन, आरक्षण रोस्टर को बनाए रखना और विभिन्न श्रेणियों के लिए रिक्तियों का निर्धारण संबंधित उपयोगकर्ता विभागों के डोमेन के अंतर्गत है। 

SSC MTS में विकलांग उम्मीदवारों (PwD) के लिए अनुमेय विकलांगता:-

MTS के कार्य करने के लिए विकलांगों, कार्यात्मक वर्गीकरण और शारीरिक आवश्यकता का विवरण निम्नानुसार है: 

S No.विकलांग बेंचमार्क धारा 34 (1) के तहत निर्धारितFunctional classificationPhysical requirements to perform the work
(1)Blindness and low visionVH-LV, BS- Sitting, ST- Standing, BN- Bending, W- Walking, H- Hearing/Speaking RW- Reading and WrittingF- Manipulating(with fingers)SE- Seeing
(2)Deaf and hard of hearing:HH
(3)Locomotor disability, leprosy cured, dwarfism, acid attack victimsOH-OA, OL, BL, OAL. LC, D, AAV
(4)Multiple disabilities from amongst persons under clauses (i), (ii) and (iii) above.

संकेतन:

OH- ऑर्थोपेडिक रूप से विकलांग – OA- एक हाथ प्रभावित एक पैर प्रभावित, BL- दोनों पैर प्रभावित, OAL- एक बांह और एक Le LC- कुष्ठ रोग, D- बौनापन और AAV- एसिड संलग्न पीड़ित, एफ विकलांग  ), VH (नेत्रहीन विकलांग): B- ब्लाइंड, LV- लो विजन। 

राष्ट्रीयता / नागरिकता:

एक उम्मीदवार में निम्न लिखित उपयोगता का होना बहुत ही आवश्यक है जैसे:-

(a) भारत का नागरिक, या

(b) नेपाल का विषय, या 

(c) भूटान का विषय, या 

(d)एक तिब्बती शरणार्थी, जो 1 जनवरी, 1962 से पहले भारत आया था, भारत में स्थायी रूप से बसने के इरादे से, या

(e) भारतीय मूल का व्यक्ति, जो पाकिस्तान से बर्मा चला गया है।  , श्रीलंका, पूर्वी अफ्रीकी देश केन्या, युगांडा, संयुक्त गणराज्य ज़ांज़ीबार), जाम्बिया, मलावी, ज़ैरे, इथियोपिया और वियतनाम भारत में स्थायी रूप से बसने के इरादे से।

भारत मूल का एक व्यक्ति जो पाकिस्तान, बर्मा, श्री लंका, कीनिया के पूर्ववर्ती देशों, तंजानिया (पूर्व में तांगान्यिका और ज़ांज़ीबार) के संयुक्त गणराज्य, ज़ाम्बिया, मलावी, ज़ैरे, इथियोपिया और वियतनाम से स्थायी रूप से स्थापित होने के इरादे से पलायन कर चुका है।

बशर्ते कि श्रेणियों (बी), (सी), (डी) और (ई) से संबंधित एक उम्मीदवार एक व्यक्ति होगा जिसके पक्ष में भारत सरकार द्वारा पात्रता का प्रमाण पत्र जारी किया गया है।

ऐसा उम्मीदवार जिसके मामले में पात्रता का प्रमाण पत्र आवश्यक है, उसे परीक्षा में सम्मिलित किया जा सकता है, लेकिन नियुक्ति का प्रस्ताव भारत सरकार द्वारा उसे / उसके लिए आवश्यक पात्रता प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा। 

SSC MTS के लिए उम्र सीमा (कट-ऑफ डेट ): 

विभिन्न उपयोगकर्ता विभागों के भर्ती नियमों के अनुसार पदों की आयु सीमा इस प्रकार है:

कट-ऑफ की तारीख के अनुसार 18-25 वर्ष (i.e.उम्मीदवारों का जन्म 02-01-1996 से पहले और बाद में 01-01-2003 से अधिक नहीं हुआ)। 

विभिन्न श्रेणियों के लिए ऊपरी आयु सीमा में अनुमेय छूट इस प्रकार है: 

कोड संख्या.श्रेणीऊपरी आयु सीमा से परे उम्र में छूट
01SC/ ST5 वर्ष 
02OBC3 वर्ष
03PwD (Unreserved)10 वर्ष
04PwD (OBC)13 वर्ष
05PwD (SC/ ST)15 वर्ष
06Ex-Servicemen (ESM)ऑनलाइन आवेदन प्राप्त होने की अंतिम तिथि के अनुसार वास्तविक उम्र से प्रदान की गई सैन्य सेवा में कटौती के 03 साल बाद
07रक्षा कार्मिक किसी भी विदेशी देश या अशांत क्षेत्र में शत्रुता के दौरान ऑपरेशन में अक्षम हो जाते हैं और इसके परिणामस्वरूप जारी होते हैं।03 वर्ष
08रक्षा कर्मी किसी भी विदेशी देश या अशांत क्षेत्र में शत्रुता के दौरान ऑपरेशन में अक्षम हो जाते हैं और इसके परिणामस्वरूप जारी (एससी / एसटी) l08 वर्ष
09केंद्र सरकार के नागरिक कर्मचारी: जिन्होंने ऑनलाइन आवेदनों की प्राप्ति के लिए समापन तिथि के अनुसार नियमित और निरंतर सेवा प्रदान नहीं की है।40 वर्ष की आयु तक
10केंद्र सरकार के नागरिक कर्मचारी: जिन्होंने ऑनलाइन आवेदन प्राप्त करने की अंतिम तिथि के अनुसार नियमित और निरंतर सेवा के लिए 3 वर्ष से कम समय तक सेवा नहीं दी है।(SC/ST)40 वर्ष की आयु तक
11विधवाओं / तलाकशुदा महिलाओं / महिलाओं को न्यायिक रूप से अलग कर दिया जाता है और जिनका पुनर्विवाह नहीं होता है।45 वर्ष की आयु तक
12विधवाओं / तलाकशुदा महिलाओं / महिलाओं को न्यायिक रूप से अलग कर दिया जाता है और जिनका पुनर्विवाह नहीं होता है (SC/ ST).35 वर्ष की आयु तक
1340 वर्ष की आयु तक
  • ऑनलाइन आवेदन पत्र में उम्मीदवार द्वारा भरी गई जन्म तिथि और मैट्रिक / माध्यमिक परीक्षा प्रमाण पत्र में दर्ज की गई आयु को निर्धारित करने के लिए आयोग द्वारा स्वीकार किया जाएगा किन्तु बाद में परिवर्तन के लिए अनुरोध पर विचार नहीं किया जाएगा या इसे स्वीकार नहीं किया जाएगा। 
  • पूर्व सैनिक जो पहले से ही अपने पुन: रोजगार के लिए पूर्व सैनिकों को दिए गए आरक्षण के लाभों का लाभ उठाने के बाद नियमित रूप से समूह सी ‘और’ डी ‘पदों में सरकार के तहत नागरिक पक्ष में रोजगार प्राप्त कर चुके हैं, में आरक्षण के पात्र नहीं हैं।

    हालांकि, ऐसे उम्मीदवार बाद के रोजगार के लिए पूर्व-सैनिक के रूप में आरक्षण का लाभ उठा सकते हैं, यदि वह सिविल रोजगार में शामिल होने के तुरंत बाद, विभिन्न रिक्त पदों के लिए आवेदन की तिथि-वार जानकारी के बारे में संबंधित नियोक्ता को स्व-घोषणा / वचन देता है।
     
    जिसे उसने / उसने प्रारंभिक नागरिक रोजगार में शामिल होने के लिए आवेदन किया था, जैसा कि ओएमओ नंबर: 36034/1/2014-एस्टीट (आरईएस) दिनांक 14.08.2014 को डीओपी एंड टी द्वारा जारी किया गया था।
      
  • सशस्त्र बलों में एक पूर्व-सैनिक की “कॉल अप सेवा” की अवधि भी नियमानुसार आयु में छूट के उद्देश्य से सशस्त्र बलों में प्रदान की गई सेवा के रूप में मानी जाएगी।
  • आरक्षण के लाभों को प्राप्त करने के उद्देश्य से संघ के तीन सशस्त्र बलों के किसी भी सैनिक को भूतपूर्व सैनिक के रूप में माना जाता है, उसे पोस्ट / सेवा के लिए अपना आवेदन जमा करने के प्रासंगिक समय में, पहले से ही अधिग्रहण करना होगा। 

    पूर्व सैनिकों की स्थिति या सक्षम प्राधिकारी से दस्तावेजी साक्ष्य द्वारा अपने अर्जित अधिकार को स्थापित करने की स्थिति में है कि वह 4 आवेदनों की प्राप्ति के लिए समापन तिथि से एक वर्ष की निर्धारित अवधि के भीतर सशस्त्र बलों से सगाई की निर्दिष्ट अवधि को पूरा करेगा।

    ऐसे उम्मीदवारों को आवेदन प्राप्ति की अंतिम तिथि से एक वर्ष की निर्धारित अवधि के भीतर पूर्व सैनिक का दर्जा प्राप्त करना होगा। 
  • स्पष्टीकरण: एक ‘पूर्व-सैनिक’ का अर्थ है एक व्यक्ति: 
  • जिसने किसी भी रैंक में सेवा की है, चाहे वह भारतीय सेना, नौसेना या वायु सेना की नियमित सेना में एक लड़ाकू या गैर-लड़ाकू के रूप में काम करता हो, और जो या तो सेवानिवृत्त हो गया हो या  इस तरह की सेवा से राहत दी गई या छुट्टी दे दी गई जरूरत नियोक्ता द्वारा उसकी पेंशन अर्जित करने के बाद राहत मिली हो;  या 
  • जो अपने नियंत्रण और चिकित्सा या अन्य विकलांगता पेंशन से परे ऐसी सेवा सैन्य आधार परिस्थितियों से राहत मिली है;  या किसी कारण जो सेना सेवा से रिलेटेड हो गया है।
  • आयु में छूट / ईएसएम आरक्षण बेटे, बेटियों और पूर्व सैनिकों के आश्रितों के लिए स्वीकार्य नहीं है। इसलिए, ऐसे उम्मीदवारों को पूर्व सैनिकों के रूप में अपनी श्रेणी का संकेत नहीं देना चाहिए।

प्रमाण पत्र और प्रमाण पत्र के प्रारूप की प्रक्रिया: 

  • उम्मीदवार जो आरक्षित रिक्तियों आयु-छूट के खिलाफ विचार करना चाहते हैं, उन्हें सक्षम प्राधिकारी से अपेक्षित प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना होगा, जब इस तरह के प्रमाण पत्र संबंधित क्षेत्रीय कार्यालयों द्वारा मांगे गए हों। 

    दस्तावेज़ सत्यापन अन्यथा, SC / ST / OBC / EWS / PwD / ESM श्रेणी के लिए उनके दावे पर विचार नहीं किया जाएगा और उनकी उम्मीदवारी / आवेदन को अनारक्षित (UR) / प्रासंगिक श्रेणी के तहत माना जाएगा। 

    इस परीक्षा की सूचना के साथ प्रमाण पत्र के प्रारूप संलग्न हैं।  विकलांगता (समान अवसर, अधिकारों का संरक्षण और पूर्ण भागीदारी) अधिनियम, 1995 (1996 का 1) के तहत जारी विकलांगता का प्रमाण पत्र भी मान्य होगा, किसी भी अन्य प्रारूप में प्रमाण पत्र अस्वीकार किए जाने योग्य हैं।  
  • अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति / अन्य पिछड़ा वर्ग / ईडब्ल्यूएस / पीडब्ल्यूडी की स्थिति या किसी अन्य लाभ के दावे के लिए महत्वपूर्ण तारीख, शुल्क रियायत, आरक्षण, आयु-छूट, आदि, जहां अन्यथा निर्दिष्ट नहीं हैं, ऑनलाइन आवेदन प्राप्त करने की अंतिम तिथि होगी। 

    आरक्षण के आधार पर नियुक्ति पाने वाले व्यक्ति को यह सुनिश्चित करना होगा कि वह जाति / समुदाय के पास हो या वह महत्वपूर्ण तारीख में creamy layer में न हो। 
  • उम्मीदवार यह भी नोट कर सकते हैं कि OBCs के संबंध में उम्मीदवारी सह की सहायता तक अंतिम रहेगी। 

SSC MTS के लिए आवश्यक शैक्षणिक योग्यता :

  • उम्मीदवारों को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से मैट्रिकुलेशन परीक्षा या समकक्ष उत्तीर्ण होना चाहिए।  
  • मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अनुसार दिनांक 10-06-2015 को भारत के राजपत्र में प्रकाशित सभी डिग्री / डिप्लोमा / प्रमाण पत्र जो संसद या राज्य विधानमंडल, संस्थानों के एक अधिनियम द्वारा स्थापित विश्वविद्यालयों द्वारा शिक्षा के ओपन और डिस्टेंस लर्निंग मोड के माध्यम से प्रदान किए जाते हैं। 

    विश्वविद्यालय अनुदान आयोग अधिनियम, 1956 की धारा 3 के तहत विश्वविद्यालय बने और संसद के अधिनियम के तहत घोषित राष्ट्रीय महत्व के संस्थान स्वचालित रूप से केंद्र सरकार के तहत पदों और सेवाओं के लिए रोजगार के उद्देश्य से मान्यता प्राप्त हैं, बशर्ते कि वे दूरी द्वारा अनुमोदित किए गए हों  शिक्षा ब्यूरो, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग। 

    तदनुसार, जब तक कि प्रासंगिक डिग्री के लिए ऐसी डिग्री को मान्यता नहीं दी जाती है जब उम्मीदवार योग्यता प्राप्त कर लेते हैं, उन्हें शैक्षिक योग्यता के उद्देश्य के लिए स्वीकार नहीं किया जाता है। 
  • दस्तावेज सत्यापन के लिए बुलाए जाने वाले सभी उम्मीदवारों को संबंधित प्रमाणपत्र जैसे मार्कशीट, प्रोविजनल सर्टिफिकेट इत्यादि का उत्पादन करना होगा, जो मैट्रिक के पूरा होने के लिए या समकक्ष होगा या कट के पहले न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता हासिल करने के प्रमाण के रूप में समकक्ष होता है । 

    -ऑफ डेट, असफल होने पर ऐसे उम्मीदवारों की उम्मीदवारी आयोग द्वारा रद्द कर दी जाएगी।  जो अभ्यर्थी दस्तावेजी साक्ष्य द्वारा यह साबित करने में सक्षम हैं कि कट-ऑफ तिथि से पहले या उससे पहले उत्तीर्ण परीक्षा का परिणाम घोषित किया गया था और उसे शैक्षणिक योग्यता को पूरा करने के लिए भी माना जाता है । 

    यह दोहराया गया है कि अपेक्षित शैक्षणिक योग्यता का परिणाम बोर्ड / संस्थान / विश्वविद्यालय द्वारा निर्धारित तिथि तक घोषित किया जाना चाहिए।  बोर्ड / एल विश्वविद्यालय / संस्थान द्वारा कट-ऑफ तारीख के परिणाम का मात्र प्रसंस्करण EQ की आवश्यकता को पूरा नहीं करता है। 

    समकक्ष शैक्षिक योग्यता रखने वाले उम्मीदवार भी दस्तावेज़ सत्यापन के समय संबंधित अधिकारियों से प्रासंगिक समकक्ष प्रमाण पत्र का उत्पादन करेंगे। 
  •  हालांकि, ऐसे उम्मीदवारों के चयन के बारे में अंतिम निर्णय संबंधित उपयोगकर्ता विभागों / प्राधिकृत अधिकारियों द्वारा लिया जाता है।  

SSC MTS के लिए आवेदन कैसे करें: 

  • आवेदन आयोग की आधिकारिक वेबसाइट यानी ऑनलाइन वेबसाइट https://ssc.nic.in पर ऑनलाइन मोड में जमा करने होंगे।  
  • ऑनलाइन आवेदन पत्र में, उम्मीदवारों को जेपीईजी प्रारूप (20 केबी से 50 केबी) में स्कैन किए गए रंगीन पासपोर्ट आकार की तस्वीर अपलोड करनी होगी।  फोटो एग्जाम की तारीख के प्रकाशन से तीन मो से अधिक नहीं होनी चाहिए जिस तारीख को फोटोग्राफ को स्पष्ट रूप से लिया गया है।  फोटोग्राफ के  बिना आवेदन खारिज कर दिए जाएंगे।  इमेज डिमेंस फोटोग्राफ लगभग 3.5 सेमी (चौड़ाई) x 4.5 सेमी (heigh) होना चाहिए, फोटो बिना टोपी, चश्मा और दोनों कानों दिखाई देनी चाहिए।
     
  • ऑनलाइन आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि और समय 21-03-2021 (23:30) है। 
  • उम्मीदवारों को ऑनलाइन आवेदन   समापन तिथि से बहुत पहले और समापन के दिनों में वेबसाइट पर भारी लोड के कारण एसएससी वेबसाइट पर लॉग इन करने के लिए वियोग / अक्षमता या विफलता की संभावना से बचने के लिए अंतिम तिथि तक इंतजार नहीं करना चाहिए ।
  • ऑनलाइन आवेदन जमा करने से पहले, उम्मीदवारों को यह देखना चाहिए कि उन्होंने प्रत्येक में सही विवरण भरा है।  फॉर्म का क्षेत्र, ऑनलाइन आवेदन पत्र जमा करने के बाद, किसी भी परिस्थिति में कोई बदलाव / सुधार / संशोधन की अनुमति नहीं दी जाती । इस संबंध में किसी भी रूप में पोस्ट, फैक्स, ईमेल, हाथ से, एट के रूप में प्राप्त अनुरोध को  नहीं स्वीकार किया जाता है । 

read also: SSC JHT kya hai ? SSC JHT ki taiyari kaise kare ?

आवेदन शुल्क: 

SSC MTS Exam Application Fee और नियम :

  • SSC MTS की परीक्षा में आवेदन करने के लिए आपको केवल 100 रुपए का आवेदन शुल्क भुगतान करना पड़ता है।
  •  अनुसूचित जाति (एससी), अनुसूचित जनजाति (एसटी), विकलांग व्यक्ति (पीडब्ल्यूडी) और आरक्षण के लिए पात्र भूतपूर्व सैनिक (ईएसएम) से संबंधित महिला उम्मीदवारों और उम्मीदवारों को शुल्क के भुगतान से छूट दी गई है। 
  • शुल्क का भुगतान BHIM UPI, नेट बैंकिंग के माध्यम से visa , मास्टरकार्ड, मेस्ट्रो, RuPay क्रेडिट या डेबिट कार्ड का उपयोग करके या SBI शाखा में नकद के माध्यम से SBI चालान का भुगतान करके किया जा सकता है।  
  • ऑनलाइन शुल्क का भुगतान उम्मीदवारों को 23.03.2021 (23:30 घंटे) तक किया जा सकता है।  हालांकि, जो उम्मीदवार एसबीआई के चालान के माध्यम से नकद भुगतान करना चाहते हैं, वे बैंक के कामकाज के समय में 29.03.2021 तक बैंक के कामकाज के समय नकद भुगतान कर सकते हैं, बशर्ते कि उनके द्वारा 25.03.2021(  23:30 घंटे) से पहले चालान तैयार किया गया हो । 
  • उम्मीदवार जिन्हें शुल्क भुगतान से छूट नहीं दी गई है, उन्हें यह सुनिश्चित करना होगा कि उनका शुल्क एसएससी के पास जमा हो गया है।  यदि शुल्क एसएससी द्वारा प्राप्त नहीं किया जाता है, तो एप्लिकेशन फॉर्म की स्थिति को अपूर्ण ‘के रूप में दिखाया जाता है।

    और यह जानकारी एप्लिकेशन फॉर्म प्रिंटआउट के शीर्ष पर मुद्रित होती है।  इसके अलावा, उम्मीदवार के लॉगिन स्क्रीन में प्रदान किए गए ‘भुगतान की स्थिति’ लिंक पर शुल्क भुगतान की स्थिति को सत्यापित किया जा सकता है।

    ऐसे आवेदन जो शुल्क प्राप्त नहीं होने के कारण अपूर्ण रहते हैं, उन्हें सारांशित किया जाता है, और ऐसे आवेदनों पर विचार करने और शुल्क भुगतान के लिए कोई अनुरोध नहीं किया जाता ।  
  • एक बार भुगतान किया गया शुल्क किसी भी परिस्थिति में वापस नहीं किया जाएगा और न ही इसे किसी अन्य परीक्षा या चयन के खिलाफ समायोजित किया जाता है । 

2021 में SSC MTS के परीक्षा केंद्र : 

  • एक उम्मीदवार को ऑनलाइन आवेदन पत्र में केंद्रों को इंगित करना होगा जिसमें वह परीक्षा देना चाहता है। परीक्षा केंद्र और क्षेत्रीय कार्यालय जिनके अधीन ये परीक्षा केंद्र हैं, के बारे में विवरण निम्नानुसार हैं:
S. No.परीक्षा केंद्र और केंद्र कोडक्षेत्र के अधिकार क्षेत्र के अंतर्गत एसएससी क्षेत्र और राज्य / संघ राज्य क्षेत्रक्षेत्रीय कार्यालयों / वेबसाइट का पता
1भागलपुर (3201), दरभंगा (3202), मुजफ्फरपुर (3205)।  पटना (3206), पूर्णिया (3209), आगरा (3001), बरेली (3005), गोरखपुर (3007), झांसी (3008), कानपुर (3009), लखनऊ (3010), मेरठ (3011), प्रयागराज (3003),  वाराणसी (3013)मध्य क्षेत्र (सीआर) बिहार और उत्तर प्रदेशरीजनल डायरेक्टर (कर) स्टाफ सिलेक्शन कमीशन, 34-ा, महात्मा गांधी मार्ग, सिविल लाइन्स, केंद्रीय सदन, प्रयागराज-  211001. (http://www.ssc-cr.org)
2पोर्ट ब्लेयर (4802), रांची (4205, बालासोर)  (4601), बेरहामपुर (ओडिशा) (4602),10 भुवनेश्वर (4604), कटक (4605), धेनलाल (4611), राउरकेला (4610)  ), संबलपुर (4609), गंगटोक (4001), हुगली (4418), कोलकाता (4410), सिलीगुड़ी (4415) पूर्वी क्षेत्र (ईआर) और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, झारखंड, ओडिशा, सिक्किम और पश्चिम बंगालक्षेत्रीय निदेशक (ईआर), कर्मचारी चयन आयोग, 1 एमएसओ भवन, (8 वीं मंजिल), 234/4, आचार्य चंद्र बोस रोड, कोलाकाता, पश्चिम बंगाल-700020 (www.sscer.org)
3बेलगावी (9002), बेंगलुरु (9001), हुबली (9011), कालाबुरागी (गुलबर्गा) (9005), मैंगुरु (9008), मैसूरु (9009)  ), शिवमोग्गा (9010), उडुपी (9012)।  एर्नाकुलम (9213), कन्नूर (9202), कोल्लम (9210), कोट्टायम (9205), कोझिकोड (9206), त्रिशूर (9212), तिरुवनंतपुरम (9211)कर्नाटक, केरला रीजन (ककर)/ लक्षद्वीप, कर्नाटक और केरलाक्षेत्रीय निदेशक (केकेआर), कर्मचारी चयन आयोग, पहली मंजिल, ई विंग, केंद्रीय सदन, कोरमंगला, बंगलुरु, कर्नाटक-560034 (www.ssckkr.kar.nic.in)
4भोपाल (6001), ग्वालियर (6005), इंदौर (6006), जबलपुर (6007), सतना (6014), सागर (6015), उज्जैन (6016), बिलासपुर (6202), रायपुर (6204)  , दुर्ग-भिलाई (6205) मध्य प्रदेश उप क्षेत्र (MPR) / छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेशउप. निदेशक (एमपीआर), कर्मचारी चयन आयोग, 5 वीं मंजिल, इन्वेस्टमेंट बुलिंग, एलआईसी कैंपस -2, पंडरी, रायपुर, छत्तीसगढ़-492004 (www.sscmpr.org)
5इटानगर  (5001), डिब्रूगढ़ (5102), गुवाहाटी (दिसपुर) (5105), जोरहाट (5107), सिलचर (5111), दीमापुर (5301), कोहिमा (5302), असम, शिलांग (5401), इंफाल (5501), चुराचांदपुर  (5502), उखरूल (5503), अगरतला (5601), आइजवाल (5701)उत्तरी पूर्वी क्षेत्र (एनईआर) / अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड और त्रिपुराक्षेत्रीय निदेशक (एनईआर), कर्मचारी चयन आयोग, हाउसफेड कॉम्प्लेक्स, अंतिम गेट, बेलटोला- बसिस्ता रोड, पी.ओ. असम सचिवालय, दिसपुर, गुवाहाटी, असम-781006 (www.sscner.org.in)
6देहरादून (2002), हल्द्वानी (2003), हरिद्वार (2005), रुड़की (2006), दिल्ली (2201), अजमेर  (2401), अलवर (2402), भरतपुर (2403), बीकानेर (2404), जयपुर (2405), जोधपुर (2406), कोटा (2407), श्रीगंगानगर (2408), उदयपुर (2409), सीकर (2411)उत्तरी क्षेत्र (NR) / दिल्ली, राजस्थान और उत्ताराखंडक्षेत्रीय निदेशक (एनआर), कर्मचारी चयन आयोग, ब्लॉक नंबर 12, सीजीओ कॉम्प्लेक्स, लोधी रोड, नई दिल्ली-110003 (www.sscnr.net.in)
7चंडीगढ़ / मोहाली (1601), हमीरपुर (1202), शिमला (1203), जम्मू (1004), लेह (1005), सांबा (1010), श्रीनगर (J & K) (10 चंडीगढ़, 07), जालंधर  (1402), पटियाला (1403), अमृतसर (1404) उत्तर पश्चिमी उप-क्षेत्र (NWR) / चंडिगढ़, हरियाना, हिमाचल प्रदेश, जामू और काश्मीर, लद्दाख और पंजाबउप. निदेशक (एनडब्ल्यूआर), कर्मचारी चयन आयोग,ब्लॉक नंबर 3, भूतल, केंद्रीय सदन, सेक्टर -9, चंडीगढ़-160009 (www.sscnwr.org)
8चिरला (8011), गुंटूर (8001), काकीनाडा (8009), कुरनूल (8003), नेल्लोर (8010), राजमुंदरी (8004), तिरुपति (8006), विजयनगरम (8012), विजयवाड़ा (8008),  विशाखापट्टनम (8007), पुदुचेरी (8401), चेन्नई (8201), कोयंबटूर (8202), मदुरै (8204), सलेम (8205), तिरुचिरापल्ली (8206), तिरुनेलवेली (8207), वेल्लोर (8208), हैदराबाद (8601),  करीमनगर (8604), वारंगल (8603)दक्षिणी क्षेत्र (एसआर) / आंध्र प्रदेश, पुडुचेरी, तमिलनाडु और तेलंगानाक्षेत्रीय निदेशक (एसआर), कर्मचारी चयन आयोग, द्वितीय तल, ईवीके संपत बिल्डिंग, डीपीआई परिसर, कॉलेज रोड, चेन्नईतमिलनाडु- 600006 (www.sscsr.gov.in),
9पणजी (7801, अहमदाबाद (7001),)  आनंद (7011), गांधीनगर (7012), मेहसाणा (7013), राजकोट (7006), सूरत (7007), वड़ोदरा (7002), अमरावती (7201), औरंगाबाद (7202), जलगाँव (7214), कोल्हापुर (7203),  मुंबई (7204), नागपुर (7205), नांदेड़ (7206), नाशिक (7207), पुणे (7208)पश्चिमी क्षेत्र (WR) / दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव, गोवा, गुजरात और महाराष्ट्ररेजिनल डायरेक्टर (वार), कर्मचारी चयन आयोग, प्रथम तल, साउथ विंग, प्रतिष्ठान भवन, 101, महर्षि कर्वे रोड, मुंबई, महाराष्ट्र-400020 (www.sscwr.net)

ध्यान देने योग्य बातें :

  •  एक उम्मीदवार को प्राथमिकता के क्रम में तीन केंद्रों के लिए विकल्प देना होता है।  किसी भी परिस्थिति में केंद्र के परिवर्तन का कोई अनुरोध बाद में नहीं माना जाएगा।  इसलिए, उम्मीदवारों को केंद्रों का चयन करना चाहिए, ध्यान से और उनके अनुप्रयोगों को उसी को इंगित करना चाहिए।  
  • आयोग अपने द्वारा चुने गए केंद्रों में उम्मीदवारों को समायोजित करने का प्रयास करेगा।  हालाँकि, आयोग के पास अधिकार है, ध्यान से केंद्रों का चयन करें, और उनके अनुप्रयोगों में समान रूप से इंगित करें। 
  • आयोग अपने द्वारा चुने गए केंद्रों में उम्मीदवारों को समायोजित करने का प्रयास करेगा।  हालांकि, आयोग के पास किसी भी केंद्र को रद्द करने का अधिकार है और उस केंद्र के उम्मीदवारों को यह बताने के लिए कहता है कि आयोग किसी अन्य केंद्र से हटाने का अधिकार भी रखता है।  किसी भी केंद्र के उम्मीदवारों को परीक्षा देने के लिए किसी अन्य केंद्र में।  
  • उम्मीदवार द्वारा चुने गए परीक्षा केंद्रों पर अधिकार क्षेत्र रखने वाला क्षेत्रीय कार्यालय परीक्षाओं के लिए उम्मीदवार को प्रवेश प्रमाणपत्र जारी करेगा।  इस भर्ती से संबंधित अन्य सभी गतिविधियों को उक्त क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा नियंत्रित किया जाएगा।  

SSC MTS Exam का Syllabus :

  • General Intelligence & Reasoning
  • Numerical Aptitude
  • General Awareness
  • English Language.

General Intelligence & Reasoning:

  • Analogies
  • Similarities And Differences
  • Space Visualization
  • Spatial Orientation
  • Problem Solving
  • Analysis
  • Judgment
  • Decision Making
  • Visual Memory
  • Discrimination
  • Observation
  • Relationship Concepts
  • Arithmetical Reasoning And Figural Classification
  • Arithmetic Number Series
  • Non-Verbal Series
  • Coding And Decoding
  • Statement Conclusion
  • Syllogistic Reasoning, Semantic  Analogy
  • Symbolic/Number Analogy
  • Figural Analogy
  • Semantic Classification
  • Figural Classification
  • Semantic Series
  • Number Series
  • Figural Series
  • Wordbuilding
  • Coding & Decoding
  • Trends
  • Numerical Operations
  • Symbolic Operations
  • Space Orientation
  • Venn Diagrams
  • Drawing Inferences
  • Indexing
  • Figural Pattern
  • Address Matching
  • Date & City Matching
  • Classification Of Centre Codes
  • Embedded Figures
  • Critical Thinking
  • Punched Hole/ Pattern Folding & Unfolding
  • Emotional Intelligence
  • Social Intelligence 

Numerical Aptitude :

  • Computation Of Whole Numbers
  • Decimals
  • Fractions And Relationships Between Numbers
  • Percentage, Ratio & Proportion
  • Square Roots
  • Averages
  • Interest
  • Profit And Loss
  • Discount
  • Partnership Business
  • Mixture And Allegation
  • Time And Distance
  • Time & Work
  • Basic Algebraic Identities Of School Algebra & Elementary Surds
  • Graphs Of Linear Equations
  • Triangle And Its Various Kinds Of Centres
  • Congruence And Similarity Of Triangles
  • Circle And Its Chords
  • Tangents
  • Quadrilaterals
  • Regular Polygons
  • Circle
  • Right Prism
  • Right Circular Cone
  • Right Circular Cylinder
  • Sphere
  • Hemispheres
  • Rectangular Parallelepiped
  • Regular Right Pyramid With Triangular Or Square Base
  • Trigonometric Ratio
  • Degree And Radian Measures
  • Standard Identities
  • Complementary Angles
  • Heights And Distances
  • Histogram
  • Frequency Polygon
  • Bar Diagram & Pie Chart

General Awareness :

  • Static General Knowledge( Indian History, Culture, Etc)
  • Science
  • Current Affairs
  • Sports
  • Books And Authors
  • Important Schemes
  • Portfolios
  • People In The News
  • Computer
  • Awards And Their Importance
  • Geography
  • Economy
  • Polity
  • Population Census

English Language :

  • Fill In The Blanks
  • Spellings
  • Phrases And Idioms
  • One Word Substitution
  • Sentence Correction
  • Error Spotting
  • Synonyms
  • Antonyms
  • Idioms & Phrases

SSC MTS Exam Syllabus Paper-2 :

यह एग्जाम Descriptive टाइप का होता है। इस एग्जाम को पूरा करने के लिए आपको 30 मिनट का समय दिया जायेगा और यह कुल 50 अंको का एग्जाम होता है। वही शारीरिक रूप से विकलांग स्टूडेंट्स के लिए 45 मिनट की समय सीमा होती है। 

SectionNumbers Of QuestionsWord limitMarks
Letter Writing0125050
Essay Writing0115050

SSC MTS Exam Pattern :

Computer Based Test (CBT) एग्जाम ऑनलाइन करवाए जाती है। जिसमे चार भाग होते है और यह कुल मिलकर लगभग 100 प्रश्न होते है। हर प्रश्न में आपको चार विकल्प दिए जायेगे। जिस मे से आपको केवल आपको एक ही विकल्प चुनना होगा, और हर गलत उत्तर के लिए आपके 0.25 अंक काट लिए जायेंगे। आपके लिए एग्जाम की समय सीमा अधिकतम 90 मिनट की होती है। 

 CBT Exam Pattern :

 SUBJECTSNumbers Of QuestionsMarksTime
AGeneral Intelligence And Reasoning2525 
BNumerical Aptitude2525 
CGeneral Awareness252590 Minutes
DEnglish Language 2525 
 Total100100 

SSC MTS Exam Pattern  Paper-2 :

यह Descriptive paper टाइप एग्जाम होता है। इस एग्जाम को पूरा करने के लिए आपको 30 मिनट का समय दिया जायेगा और यह कुल 50 अंको का एग्जाम होता है। वही शारीरिक रूप से विकलांग स्टूडेंट्स के लिए 45 मिनट की समय सीमा होती है। एग्जाम पैटर्न निम्न प्रकार से है :

SubjectTotal MarksTotal Time
Descriptive Paper5030 Minutes

BEST BOOKS SSC MTS के लिए :

अगर आप एसएससी के एग्जाम को अच्छे अंकों से पास करना चाहते है तो उसके लिए आपको अच्छे बुक्स का चयन करना होगा। क्यों की आपको एग्जाम के लिए ऐसी बुक्स की जरुरत होती है जिसमे आपको आपके एग्जाम में अपने वाले सभी विषयों की सूची प्राप्त होती हो। जिस से आप बिना किसी संकोच के एग्जाम की तैयारी कर सके।

यह भी जरूरी नहीं होता की आप बहुत सारी बुक्स का चुनाव कर ले , जिस से आपको पढ़ने में दिक़्क़तों का सामना ना करना पड़े। क्यों कि बुक्स जितनी ज्यादा होगी हमारा मन उतना ज्यादा विचलित होगी कि कौन सी बुक्स अच्छी है किस बुक को पढ़ना सही होगा। इससे समय भी नष्ट होता है ऐसी लिए सही बुक्स का चुनाव करे जिससे आपको किसे भी प्रकार की मुसीबत का सामना नहीं करना पड़ेगा। 

Books के नाम:-

REASONING BOOKS:

  • RS Aggarwal ( Verbal & Non- Verbal Reasoning)
  • Previous Year Papers ( Reasoning SSC By Rakesh Yadav Previous Year )

MATHS BOOKS:

  • Advance Maths Book By Rakesh Yadav
  • Arithmetic Book By Rakesh Yadav
  • Brahmastra Book By Ajay Gulati
  • Quantum Cat By Sarvesh Verma

GENERAL AWARENESS BOOKS:

  • Lucent (English And Hindi )

ENGLISH BOOKS :

  • Word Power Made Easy Book
  • Blackbook For English Vocabulary
  • SP Bakshi Book
  • Practice Set By AK Singh (MB Publication)

इस प्रकार आप बिना किसी दिक्कत के बुक्स का चयन कर सकते है। इन बुक्स के जरिये आप आसानी से एग्जाम लिए बिना अपना कीमती समय गवाए पढ़ सकते है, और साथ ही साथ आपको इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि आप जितना हो सके Previous पेपर को अधिक से अधिक हल करके प्रयास  करे। इससे आपको एग्जाम में बहुत मददः मिल सकती है।

Conclusion :

हम उम्मीद करते है कि हमारे इस SSC MTS Kya Hai? SSC MTS का Syllabus और SSC MTS का Exam Pattern क्या है ? आर्टिकल से आपके SSC MTS से जुड़े सभी सवालों का बखूबी जबाब मिल गया। हमारे आर्टिकल का लक्ष्य  आपको सरल से सरल भाषा में जानकरी प्राप्त करवाना होता है। हमे पूरी उम्मीद है की ऊपर दी गए जानकारी आप के लिए उपयोगी होगी और आपको समझ भी आ गया होगा की SSC MTS Kya Hai? SSC MTS का Exam Pattern And Syllabus कौन कौन से है । अगर आपके मन में इस आर्टिकल से जुड़ा सवाल या कोई सुझाव है तो आप हमे निःसंदेह कमेंट्स के जरिए बताये । हम आपकी पूरी सहायता करने का प्रयत्न करेंगे।
Source: SSC
Read Also:राज्य विधान सभा क्या है? और विधान सभा की शक्तियाँ एवं कार्य क्या है?
 Email Id Kya Hai और Email ID Kaise Banaye?
 राज्यपाल क्या होता है? और राज्यपाल की भूमिका क्या है?
SSC CGL Kya Hai? SSC CGL Exam Pattern And Syllabus In Hindi
SSC क्या है ? SSC की तैयारी कैसे करे ?
SSC CHSL क्या है ? और SSC CHSL का Exam Pattern क्या है ?
Yoga Therapy Kya Hai ?? Yoga Therapy Me Career Kaise Banaye?विधान परिषद और विधान सभा के बीच का आपसी संबंध क्या है?विधान परिषद क्या है? और विधान परिषद के कार्य एवं शक्तियां क्या है?

Leave a Comment