Skip to content

ITI Ka Matlab kya Hai और ITI कैसे करें – योग्यता, सिलेबस, फीस, नौकरी सभी जानकारी एक ही जगह ।

ITI Ka Matlab kya Hai और ITI कैसे करें – योग्यता, सिलेबस, फीस, नौकरी सभी जानकारी एक ही जगह ।

Last Updated on October 22, 2023 by Mani_Bnl

10 वीं पास करते ही आपके सामने ढेरो करियर ऑप्शन आते है, जैसे आप 12 वीं कर सकते है किसी भी स्ट्रीम से या डिप्लोमा कर सकते है। लेकिन अगर आपका मन ITI करने का है और आप ढेरो संका से घिरे हुए है जैसे की ITI Ka Matlab kya Hai, ITI कैसे करें इसकी योग्यता, सिलेबस, फीस, नौकरी मिलेगी तो आप बिलकुल सही आर्टिकल पढ़ रहे हो।

ITI करना एक बहुत ही अच्छा ऑप्शन हो सकता है अगर आप तकनिकी शिक्षा प्राप्त करना चाहते है और लाइफ में जल्दी से जल्दी सेट होना चाहते है, क्योकि ITI ही एक ऐसी संस्था जो 10वि के बाद आपको बहुत कम समय में तकनिकी शिक्षा में आपको पारंगत कर देता जिसके बाद आप आपने स्ट्रीम से जुड़े फिल्ड में काम कर सकते है फिर चाहे वो प्राइवेट हो गोएरमेंट जॉब। तो आइये सबसे अफ्ले जानते है ITI Ka Matlab kya Hai?

ITI Ka Matlab kya Hai?

भारत में सन 1950 में एक ऐसे संस्थान का लोकार्पण किया गया जिसमे लोगो के तकनिकी कौसल को निखारने का काम करना था जिसका नाम रखा गया ITI यानि की औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (Industrial Training Institute / ITI) ये संस्थान भारत सरकार के श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के अधीन आता है।

इस संस्थान में तकनिकी और गैर तकनिकी को मिला के ढेरो कोर्स की पढाई करवाई जाती है जिसके बारे में आप निचे विस्तार से पढ़ेंगे। ITI एक ऐसा प्रशिक्षण संस्थान है जो उच्च माध्यमिक विद्यालय यानि के दसवीं के बाद छात्रों को उद्योग संबंधीत प्रशिक्षण प्रदान करवाता है।

इसके कुछ ट्रेड तो ऐसे है जिन्हे आठवीं के बाद भी पढ़ाया जा सकता है. ITI खास तौर से उन छात्रों को तकनीकी ज्ञान प्रदान करने के लिए हैं जो सिर्फ 10 वीं पास हैं और आगे उच्च अध्ययन करने के बजाय कुछ ऐसा तकनीकी कौशल प्राप्त करना चाहते हैं।

जिससे वो या तो Self employment के काबिल बन या कही जॉब के काबिल हो जाये। जिस से वो ना सिर्फ जीविका कमाने के लिए आत्मनिर्भर हो सके साथ ही दुनिया में एक अच्छा और सफल लाइफ स्टाइल को फॉलो कर सके। ITI में आप थ्योरी के साथ साथ Practical चीजे भी सीखते है जैसा की किसी हायर कोर्स में सिखाया जाता हे, ITI से पासआउट होने पे आपको कोई डिग्री नहीं नहीं मिलती आपको NCVT का certificate मिलता है।

इसके अंतर्गत आने वाले कोर्सो की अवधी लगभग 1 साल से 2 साल तक की होती है, जो नॉन टेक्निकल कोर्स है वो लगभग सभी 1 साल की अवधी वाले कोर्स है, टेक्निकल कोर्स लगभग 2 साल के है। 1 साल में 2 सेमेस्टर होते है।

जैसा मैंने ऊपर जिक्र किया है की इसमें तकनिकी और गैर तकनिकी दोनों तरह के कोर्स करवाए जाते है लेकिन इनके तकनिकी कोर्स की डिमांड ज्यादा क्योकि इसके बाद उन्हें कही न कही अच्छी नौकरी मिल ही जाती है। हालांकि मई ये कहूंगा की आप अपने मनपसंद कोर्स का ही चुनाव करे। जरुरी नहीं जो आपके दोस्त के ने लिया है वही आप ले।

आइये जरा एक बार जानते है की इनमे कौन कौन से कोर्स है।

ITI के अंतर्गत आने वाले कोर्स कौन कौन से है?

ITI के पाठ्यक्रम जिसे हम ट्रेड के नाम से भी जानते है वो दो तरह के होते है कोर्स के बारे में जानने से पहले थोड़ा सा इसे जान लेते है।

आईटीआई में ट्रेड को दो भागो में बाँटा गया है पहला है Engineering  Trades यानि की तकनिकी ट्रेड जिसमे आपको तकनिकी शिक्षा दी जाती है।

दूसरा है Non-Engineering Trades यानि की गैर तकनिकी शिक्षा जो आपके डेली लाइफ या की शिक्षा दी जाती है जैसे सिलाई का कोर्स।

आइये अब जानते है ITI यानि की औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (Industrial Training Institute / ITI) में कौन कौन से कोर्स पढ़ाये जाते है , हमने निचे एक लिस्ट दी है जिसमे तकनिकी और गैर तकनिकी दोनों कोर्स के नाम लिखे है।

Read Also: Bsc kya hai? BSC का Syllabus और College List ।

  • भवन अनुरक्षण (Building Maintenance)
  • इलेक्ट्रॉनिक मिस्त्री (Electronics Mechanic)
  • Excavator Operator (Mining)
  • Mechanic Repair & Maintenance of Two Wheeler’s
  • Mechanic Auto Electrical and Electronics
  • Sanitary Hardware fitter
  • Architectural Assistant
  • बढई (Carpenter)
  • Domestic Painter
  • Foundry man Technician
  • Gold Smith
  • Industrial Painter
  • Interior Decoration and Designing
  • Marine Engine Fitter
  • राजगीर (Mason या Building Constructor)
  • Mechanic Repair & Maintenance of Heavy Vehicles
  • Mechanic Repair & Maintenance of Light Vehicles
  • Mechanic Diesel Engine
  • मेकैनिक (ट्रैक्टर)
  • Mechanic Communication Equipment Maintenance
  • Mechanic Lens or Prism Grinding
  • Physiotherapy Technician
  • Plastic Processing Operator
  • Plumber
  • Pump Operator-cum-Mechanic
  • Rubber Technician
  • Sheet Metal Worker
  • Stone Mining Machine Operator
  • Stone Processing Machines Operator
  • Welder (Gas and Electric)
  • Attendant Operator (Chemical Plant)
  • Draughtsman (Civil)
  • Draughtsman (Mechanical)
  • Electricians
  • Electroplater
  • Fitter
  • Instrument Mechanic
  • Instrument Mechanic (Chemical Plant)
  • Information Communication Technology System Maintenance
  • Laboratory Assistant (Chemical Plant)
  • Lift and Escalator Mechanic
  • Machinist
  • Machinist (Grinder)
  • Maintenance Mechanic (Chemical Plant)
  • Marine Fitter
  • Mechanic Mining Machinery
  • Mechanic Agricultural Machinery
  • Mechanic Computer Hardware
  • Mechanic Consumer Electronics Appliances
  • Mechanic-cum-Operator Electronics Communication System
  • Mechanic Industrial Electronics
  • Mechanic Machine Tools Maintenance
  • Mechanic Mechatronics
  • Mechanic Medical Electronics
  • Mechanic Motor Vehicle
  • Mechanic (Refrigeration and Air-Conditioner)
  • Mechanic (Radio & TV)
  • Operator Advanced Machine Tools
  • Painter General
  • Radiology Technician
  • Spinning Technician
  • Surveyor
  • Textile Mechatronics
  • Textile Wet Processing Technician
  • Tool & Die Maker (Dies &Moulds)
  • Tool & Die Maker (Press Tools, Jigs & Fixtures)
  • Turner
  • Vessel Navigator
  • Weaving Technician
  • Wire man
  • Cabin or Room Attendant
  • Computer Aided Embroidery And Designing
  • Corporate House Keeping
  • Counselling Skills
  • Creche Management
  • Driver Cum Mechanic (Light Motor Vehicle)
  • Data Entry Operator
  • Domestic House Keeping
  • Event Management Assistant
  • Firemen
  • Front Office Assistant
  • Hospital Waste Management
  • Institution House Keeping
  • Insurance Agent
  • Library & Information Science
  • Medical Transcription
  • Network Technician
  • Old Age Care Assistant
  • Para Legal Assistant or Munshi
  • Preparatory School Management (Assistant)
  • Spa Therapy
  • Tourist Guide
  • Baker & Confectioner
  • Cane Willow and Bamboo Worker
  • Catering and Hospitality Assistant
  • Computer Operator and Programing Assistant
  • Craftsman Food Production (General)
  • Craftsman Food Production (Vegetarian)
  • Cutting and Sewing
  • Dairying
  • Desktop Publishing Operator
  • Digital Photographer
  • Dress Making
  • Surface Ornamentation Techniques (Embroidery)
  • Fashion Design and Technology
  • Finance Executive
  • Fire Technology
  • Floriculture and Landscaping
  • Footwear Maker
  • Basic Cosmetology
  • Health Safety and Environment
  • Health Sanitary Inspector
  • Horticulture
  • Hospital House Keeping
  • Human Resource Executive
  • Leather Goods Maker
  • Litho Offset Machine Minder
  • Marketing Executive
  • Multimedia Animation and Special Effects
  • Office Assistant cum Computer Operator
  • Photographer
  • Plate Maker cum Impositor
  • Preservation of Fruits and Vegetables
  • Process Cameraman
  • Secretarial Practice (English)
  • Stenographer & Secretarial Assistant (English)
  • Stenographer & Secretarial oratory Equipment Technician
  • Architectural Draughtsmanship
  • Resource Person
  • Drawing/Mathematics
  • Web Designing and Computer Graphics
  • Agro Processing
  • Food Beverage
  • Foods and Vegetable Processing
  • Information Technology
  • Art terms
  • Basic safety and shoapfloor safety

Read Also: ppt kaise bnaye | पावर पॉइंट पर कार्य कैसे करे ?

ये तो थे लगभग सभी कोर्स लेकि कुछ ऐसे कोर्स भी है जो ज्यादा फेमस है आईटीआई में वो है :

  • इलेक्ट्रिकल
  • फिटर
  • प्लम्बर
  • कारपेंटर
  • वायरमैन 
  • पेंटर जनरल
  • कंप्यूटर टेक्निशियन
  • नेटवर्क टेक्निशियन
  • वेल्डर
  • मैकेनिकल
  • पंप ऑपरेटर
  • ड्रेस मेकिंग
  • हेयर एंड स्किन केयर
  • फायरमैन
  • डाटा एंट्री ऑपरेटर
  • स्पा थैरेपी
  • टूरिस्ट गाइड

ये कोर्स आपको लगभग सभी संस्थान में आसानी से मिल जायेंगे।

ITI के कोर्स की अवधी क्या होता है?

आईटीआई के कोर्सो की अवधी अधिकतम 2 साल की होती है जिसमे 4 सेमेस्टर होती है, हालाँकि ये तकनिकी कोर्सो की अवधी होती है कुछ ऐसे गैर तकनिकी कोर्स भी है जिनकी अवधी आपको ६ महीने से साल भर की ही मिलेगी।

ITI के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए है?

ITI में दाखिला लेने के लिए आपका किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से दसवीं या बारहवीं पास होना बहुत ही जरूरी है।

दसवीं में आप कम से कम 35% मार्क्स के साथ पास हुए हो।

इसके अलावा आपकी उम्र 14 से कम ना हो ना ही 40 से ज्यादा हो।

भूतपूर्व सैनिक – 45 वर्ष की आयु तक,

युद्ध विधवा – 45 वर्ष की आयु तक,

शारीरिक रूप से विकलांग – प्रवेश के समय 10 वर्ष और 35 वर्ष की आयु की ऊपरी सीमा छूट,

विधवाओं / अलग-थलग महिलाओं – 35 वर्ष की आयु तक

ITI की फीस कितनी होती है?

ITI के गोवेरमेंट कॉलेज की फीस तक़रीबन 7 हजार प्रति सेमेस्टर होती है, वही गोवेरमेंट कॉलेज में आपको 10 हजार से 35 हजार तक फीस देनी पर सकती है। ये फीस कॉलेज के सुभिदाएँ पर निर्भर करता है।

ITI में Admission लेने के लिए क्या-क्या डॉक्यूमेंट चाहिए?

  • डोमिसाइल सर्टिफिकेट होना चाहिए
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • मार्क शीट
  • स्कूल छोड़ने का प्रमाण पत्र (SLC)
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • स्थानांतरण प्रमाण पत्र
  • मूल निवासी प्रमाण पत्र
  • श्रेणी प्रमाण पत्र यदि आप applicable हो तब
  • पहचान प्रमाण जैसे की वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस इत्यादि.

ITI के लिए अप्लाई कैसे करें?

  • सबसे पहले आप अपने राज्य की आईटीआई की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ.
  • इसके बाद आप अपनी Email-Id अथवा Mobile Number के द्वारा Sign-In करें.
  • अब आपको New Candidate Register का ऑप्शन दिखेगा, उस पर क्लिक करें.
  • अब आपके सामने एक फॉर्म ओपन होगा, आपको उसमें मांगी गई सभी डिटेल्स भरनी है, जैसे आपका नाम, एड्रेस आदि.
  • डिटेल्स भरने के बाद मांगे गए डाक्यूमेंट्स अपलोड करें.
  • अब फॉर्म को submit कर दें, और  उसका प्रिंट आउट निकाल लें.
  • इसके बाद सेलेक्टेड संसथान में जाके आप एडमिशन ले सकते है।

भारत में आईटीआई का सर्वश्रेष्ठ कॉलेज

आप अपने आस पास के इलाके में भी कॉलेज ढूंढ सकते है।

ITI के बाद आप कौन से कोर्स कर सकते है?

ITI करने के बाद आप डिप्लोमा, btech या कोई भी और ग्रजुएशन कोर्स कर सकते है है। क्योकि आपके आईटीआई को बारवी के बराबर माना जा सकता है। डिप्लोमा में आपको 1 साल की छूट मिलेगी।

ITI के बाद कौन सी नौकरी कर सकते है?

आईटीआई प्रशिक्षण के बाद आप अखिल भारतीय ट्रेड टेस्ट (AITT) नामक परीक्षा देते हैं तथा इसमें सफल वयक्तिओ को राष्ट्रीय ट्रेड प्रमाणपत्र (NTC) प्रदान किया जाता है।के बाद आप गोवेर्मेंट या प्राइवेट सेक्टर में नौकरी पा सकते है, उस फिल्ड में जिसे जुड़ा हुआ ट्रेड आपके पास था। उदाहरण के लिए आपने फिटर का कोर्स किया है तो आप फिटर का काम कर सकते है कही भी। अगर आप अपना काम करना चाहते है तो वो भी कर सकते है।

ITI करने के बाद कितनी Salary मिलती है?

आज के समय में किसी भी जॉब की फिक्स सैलरी नहीं होती है, लेकिन एक अनुमान के मुताबि आपकी सैलरी 14 हजार से 20 हजार के बिच होगी। सैलरी के निर्धारण में आपके ट्रेड का भी महत्वपूर्ण योगदान होता है।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में आपने आईटीआई से जुड़े सभी बातों और आपके सवालों का जबाब पढ़ा उम्मीद करते है की ये आपके काम आएगी। आईटीआई एक ऐसा संसथान है जो आपको बहुत ही कम समय में अपने जीवन के लक्ष्य यानि की जॉब के सपने को साकार करने का मौका देता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *