IBPS क्या है? IBPS  की तैयारी कैसे करे?

IBPS क्या है? IBPS  की तैयारी कैसे करे?

आज हम आपके साथ बहुत महत्वपूर्ण जानकारी सांझा करना चाहते है। जो की हम सभी के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। हम सब को पता है की IBPS क्या है ? IBPS की तैयारी कैसे करे ?,परन्तु कुछ व्यक्ति ऐसे भी होते है जिनको IBPS के बारे में जानकारी नहीं होती है।

आज का हमारा आर्टिकल उन लोगों के लिए ही है। कुछ स्टूडेंट्स को किसके बारे में कुछ पता भी नहीं है। कई बार हम IBPS के बारे में अपने रिलेटिव्स,फ्रेंड्स से IBPS के बारे में सुनते है। किन्तु हमे इसकी पूर्ण जानकारी उनसे नहीं मिल पाती है।

जिसके कारण हमे इसके बारे में सही जानकारी हासिल नहीं हो पाती है। आज के योग में हर कोई मेहनत करके अच्छी से Job पाना चाहता है। कौन नहीं चाहता है की उसका भविष्य अच्छा हो। जैसा की हम सभी जानते ही है कि आज कल सरकारी नौकरी पाना बहुत ही कठिन है।  आजकल लगभग हमारे देश में सभी Students एसएससी के बारे में पता है और वह सभी IBPS की तैयारी में जुटे भी हुए है। क्योकि आजकल कल हर स्टूडेंट यह चाहता है की उसका भविष्य अच्छा और सुरक्षित हो। जिसके लिए वह मेहनत भी कर रहे है। आज हम आपको हमारे आर्टिकल के जरीये IBPS क्या है इसके बारे में बतायेगे।

IBPS क्या है?

IBPS full form:- Institute of Banking Personnel Selection तथा हिन्दी में बैंकिंग कार्मिक चयन संसथान होता है। IBPS एक ऐसी संस्था है जो बैंक में बैंक में अलग अलग पदों पर कर्मचारियों का चयन करने का कार्य करती है। 

IBPS की स्थापना 1984 ई. में की गई थी। IBPS से पहले सभी बैंको के चुनाव के लिए अलग अलग एग्जाम लिए जाते थे। किन्तु IBPS के आने के बाद से ही IBPS के एग्जाम चयन प्रतिक्रिया के माध्यम से ही सभी बैंको के अंतर्गत आने वाले खाली स्थानों को पूरा कर दिया जाता है। 

Read Also: B Pharma क्या है? B Pharma का syllabus और college List |

IBPS के एग्जाम के लिए क्वालिफिकेशन :

IBPS के एग्जाम के लिए निर्धारित मापपदंडो का ध्यान रखना चाहिए। क्युकि हर् मापदंड को ध्यान में रख कर ही IBPS  के एग्जाम देने की अनुमति मिलती है। स्टूडेंट्स को एग्जाम संभान्धी सुचना और Age ,स्टडी क्वालिफिकेशन तथा अन्य एसएससी के एग्जाम के मपढ़ंदो को ध्यान में रखना चाहिए

  • IBPS  के एग्जाम के लिए आपका ग्रेजुएशन पास होना आवश्यक है चाहे आपने ग्रेजुएशन किसी भी विषय से की हो। 
  • IBPS  के एग्जाम के लिए कम से कम उम्र 20 वर्ष से ले कर 30वर्ष तक होनी चाहिए। किन्तु हर एसएससी के एग्जाम के लिए उम्र सीमा अलग अलग निश्चित की गई है। इस उम्र के स्टूडेंट्स एग्जाम को दे सकते है, और अलग अलग पदों के लिए भी उम्र सीमा कम और अधिक निश्चित की गई है।
  • IBPS  का एग्जाम देने वाला स्टूडेंट भारत का नागरिक होना चाहिए। किन्तु अगर वह किसे अन्य देश का नागरिक है जिसे स्थाई रूप से भारत की नागरिकता प्राप्त है तो वह एग्जाम दे सकता है
  • अलग अलग श्रेणिओ के लिए स्टूडेंट्स के लिए कोंस्टीटुएशन के अनुसार उम्र सीमा विभिन विभिन निर्धारित की गई है।
  • इस एग्जाम के लिए आवेदन के लिए आवश्यक शैक्षिणिक योग्यता स्तानक उत्तीर्ण है जो किसे भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्याल से होनी चाहिए।
  • कुछ विशेष पद्दो के लिए उस के महत्वपूर्ण विषय में स्टूडेंट्स को महारथ हासिल होनी चाहिए।

Read Also: Bsc kya hai? BSC का Syllabus और College List ।

IBPS  की तैयारी कैसे करे ?

IBPS के एग्जाम को पास करने के लिए तैयारी की जरुरत होती है। कई बार जब हम अधिक से अधिक मेहनत करते है किन्तु दुर्भाग्यवश हमारे हाथ अगर असफलता आती है तब हम बहुत निराशा होती है। किन्तु हमे अपनी निराशा सिख चाहिए। इस तरह हम अपनी हिमत को दुबारा प्राप्त कर सकते है।

हम अपनी गलतिओ से भी सिख ले सकते है इस तरह हम अपने गलतिओ को देख कर दुबारा पहली बार के मुकाबले और अधिक मेहनत कर सकते है। इस तरह हमे जरूर सफलता हासिल होगी। इस प्रकार हम अपनी गलतिओ से अधिक से अधिक सिख सकते है।

अगर हम असफल होने की बात न सोच कर अगर हम असफलता का कारण पता करे जरूर सफल हो सकते है। इसको एक बार में क्लियर करने के लिए हमे सही टाइम टेबल और सही रणनीतिओ की आवयश्कता होती है। जिसके लिए हमारा आर्टिकल अंत तक जरूर पढ़े।

Read Also: Nursing me career kaise banaye?(नर्सिंग में करियर कैसे बनाए?)

टाइम टेबल बनाना :

IBPS का एग्जाम पास करने के लिए सही से पढ़ना बहुत आवश्यक होता है। क्युकी आप IBPS के एग्जाम की जितनी तैयारी करयेगे आपकी सफलता के लिए वो उतना ही जरुरी है। किन्तु अच्छी पढ़ाई के लिए आपको सही टाइम टेबल की जरूरत होती है। क्युकि सही टाइम टेबल के कारण ही आप सही ढंग से अपनी पढ़ाई को जारी रख सकते हो। इस लिए एक सही टाइम टेबल का होना आपके लिए बहुत आवशयक है।

रोजमर्रा या अपने आस-पास की चीजों से सीखे :

हम अपने आसपास की उपयोग में आने वाली रोजमर्रा की चीज़ो से भी ज्ञान हासिल कर सकते है। हम Newspaper ,News Channels में से Current Affairs ग्रहण कर सकते है। क्युकि हम सिर्फ किताबो से सिर्फ सीमित ज्ञान ही हासिल कर सकते है किन्तु हम अपने दैनिक उपोग में आने वाली वस्तुओ से असीमित जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Read Also: D Pharma क्या हैं? D Pharma का Syllabus और College List |

रोजमर्रा या अपने आस-पास की चीजों से सीखे :

हम अपने आसपास की उपयोग में आने वाली रोजमर्रा की चीज़ो से भी ज्ञान हासिल कर सकते है। हम Newspaper ,News Channels में से Current Affairs ग्रहण कर सकते है। क्युकि हम सिर्फ किताबो से सिर्फ सीमित ज्ञान ही हासिल कर सकते है किन्तु हम अपने दैनिक उपोग में आने वाली वस्तुओ से असीमित जानकारी प्राप्त कर सकते है। इसी लिए जरुरी है की हम अपने आसपास से अधिक से अधिक जानकारी ले सकते हैं।

मन को तनाव रहित रखे :

हमारी पढ़नी तब ही सही ढंग से हो पाएगी जब हमारा मन तनाव रहित हो। अथवा हमारा मन तनाव मुकत नहीं होगा तब हमारा पढ़ाई में भी मन नहीं लगेगा।इस से हमारी पढ़ाई सही प्रकार से नहीं हो पाएगी जिस कारण हमे आगे इसका नुकसान उठाना पड़ सकता है।

इसी लिए जरुरी है की हम तनाव मुकित होकर अपनी पढ़ाई करे। तनाव मुक्त रहने के लिए हम रोज सुबह योग या कसरत सहारा ले सकते है। जिस से हम मानसिक तनाव से भी दूर रह सकते है और योग द्वारा हमारा शरीर भी तंदरुस्त रहता है। हम तनाव मुक्त रहने के लिए Games , Songs ,भ्रमण का भी सहारा ले सकते है, ये सब भी हमारे मन को तरोताजा रखने मे कारगर सिद्ध होते है। इस प्रकार हमारी पढाई में किसे भी प्रकार की 

सही रणनीति का होना :

सही रणनीति का अर्थ है परीक्षा के सही प्रकार से तैयारी करना। जिसमे छोटी से छोटी बात भी शामिल है। जिसके लिए होना चाहिए की एग्जाम में किस प्रकार का प्रश्न आता है क्युकि कई बार ऐसा देखा जाता है की कई स्टूडेंट्स को यह ही नहीं पता होता है की एग्जाम में किस विषय पर प्रश्न आएगे। जिस कारण वो गलत रणनीति बना लेते है और उनकी इस गलत रणनीति के कारण उनको सफलता प्राप्त नहीं हो पाती है। इसी लिए सही रणनीति का होना आवश्यक हो जाता है।

कोई अर्चन महि उत्पन होती है। 

IBPS के द्वारा कौन कौन से एग्जाम करवाए जाते है :

  • IBPS SO (Institute of Banking Personnel Selection Specialist Officer)
  • IBPS PO (Institute of Banking Personnel Selection Probationary Officer)
  • IBPS RRB (Institute of Banking Personnel Selection Rural Regional Bank)
  • IBPS AFO 
  • IBPS Clerk

Read Also: B.Voc Automobile Course, Eligibility, Syllabus, Career in Hindi

SALARY :

IBPS के हर पदों के लिए सैलरी अलग अलग होती है। हर साल लाखो उमीदवार इस एग्जाम में शामिल होते है। IBPS ने सैलरी उनके स्तरों के आधार में दी जाती है। जिस प्रकार का स्तर होता है सैलरी उसी अनुसार मिलती है। पे स्केल -लेबल 1 से लेकर लेवल 7 तक (1.12 लाख से भी अधिक ) हो सकती है। इस तरह आप मेहनत करके लाखो रुपए IBPS के द्वारा कमा सकते है। IBPS के बारे में और भी अधिक और महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए आप ऑफिसियल वेबसाइट https://ibps.in/ को चेक कर सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *